सूर्य नमस्कार कैसे करें | सूर्य नमस्कार के 18 फायदे

535

आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिये बता रहें हैं कि, सूर्य नमस्कार क्या हैं और सूर्य नमस्कार करने का सही तरीका क्या हैं। (How to do Surya Namaskar step by step in Hindi) सूर्य नमस्कार के फायदे और नुकसान। सूर्य नमस्कार कब और कितनी बार करनी चाहिए। (Benefits of Surya Namaskar in Hindi) सूर्य नमस्कार के आसनों और मंत्रो के नाम।

सूर्य नमस्कार क्या हैं?

सूर्य नमस्कार एक प्राचीन योग क्रिया हैं। सूर्य नमस्कार एक मात्र ऐसा योग हैं, जिससे पुरे शरीर की कसरत हो जाती हैं। जिस प्रकार सूर्य हमें ऊर्जा देती हैं, उसी प्रकार सूर्य नमस्कार भी हमारे शरीर के तन, मन और धन को ऊर्जामान बनाता हैं। अगर सूर्य नमस्कार सही तरीके से किया जाएँ तो, इसके कई स्वास्थ लाभ हैं। सूर्य नमस्कार के नियमित सेवन से आप हमेशा रोग-मुक्त और ऊर्जावान रहेगें। सभी आसनों में सूर्य नमस्कार सर्वश्रेठ माना जाता हैं। सूर्य नमस्कार की विशेषता कभी कम नहीं हुई बल्कि कभी कम नहीं हुई।

सूर्य नमस्कार को 12 स्टेप में मंत्र के साथ किया जाता हैं। सूर्य नमस्कार के 1 राउण्ड में 12 आसन होता हैं और प्रत्येक राउण्ड को 12 बार किया जाता हैं। सूर्य नमस्कार के प्रत्येक स्टेप का अलग-अलग नाम हैं। सूर्य नमस्कार जिस स्टेप से शुरू होता हैं, उसी स्टेप के साथ ख़त्म भी होता हैं। सूर्य नमस्कार किसी भी उम्र के लोग कर सकते हैं।

शास्त्र के अनुसार कहा जाता हैं कि सूर्य नमस्कार के सभी आसान सूर्य देवता को समर्पित होता हैं। कहा यह भी जाता हैं कि, सूर्य नमस्कार के 12 स्टेप दिन के 12 घंटे और रात के 12 घंटे को दर्शाता हैं। सूर्य नमस्कार हमेशा सुबह सूर्य उदय के समय सूर्य की और मुँह करके करना चाहिए।

surya-namaskar-kaise-kare

सूर्य नमस्कार करने का सही तरीका