ओमीक्रॉन के लक्षण, कारण और बचाव क्या हैं? | (Omicron Treatment at Home in Hindi)

730

आज हम इस पोस्ट के जरिये बता रहें हैं कि, ओमीक्रॉन के बारे में कि, ओमीक्रॉन का क्या लक्षण, कारण और उपचार क्या हैं और ओमीक्रॉन का घर पर इलाज कैसे करें? (Omicron Treatment at Home in Hindi) ओमीक्रॉन कोरोना वायरस का ही अगला रूप हैं। कोरोना वायरस के इस वेरियंट का कोड नाम हैं, B.1.1.529 और जो इससे पहले नया कोरोना वायरस आया था, उसका कोड नाम था, B.1.617.2 दिया था। 

WHO ने कोरोना के इस नए वेरियंट को वेरियंट ऑफ़ कंसर्न (Concern) की श्रेणी में रखा हैं। कंसर्न का मतलब हैं कि, ज्यादा तेजी से फैलना, खतरा और देश में आपातकालीन की स्थिति ला सकती हैं और जो न्य कोरोना वायरस था, उसे डेल्टा वेरियंट के नाम से जाना जाता हैं, इसे वेरियंट ऑफ़ इंट्रेंस की श्रेणी में रखा गया था, जिसका मतलब हैं कि, कम खतरा और आसानी से रिकवरी होना। 

ओमीक्रॉन वायरस के क्या लक्षण हैं? (Omicron Symptoms in Hindi)

  • ओमीक्रॉन के पहला लक्षण हैं, सिर में दर्द होना। 
  • ओमीक्रॉन का दूसरा लक्षण हैं, हल्की सर्दी-खाँसी और गले में खरास होना जैसे समस्या हो सकती हैं। 
  • ओमीक्रॉन का तीसरा लक्षण हैं, हल्की बुखार होना। बुखार में 101 डिग्री तक टेम्प्रेचर जा सकता हैं। 
  • ओमीक्रॉन का जो लक्षण हैं, वह हैं कमजोरी, थकान और सुस्ती जैसी समस्या होना। 
 
अगर आपको इन सभी लक्षणों की तरह लगें तो, अपने आपको औरों से अलग रखना चाहिए। दूसरों से अलग रखें और अपने आपको होम आइसोलेशन करें। 

ओमीक्रॉन वायरस की कुछ महत्वपूर्ण बातें (Omicron Important Points in Hindi)

ओमीक्रॉन को वेरियंट ऑफ़ कंसर्न की श्रेणी में रखा गया हैं, जो वायरस को वेरियंट ऑफ़ कंसर्न की श्रेणी में रखा जाता हैं, वह ज्यादा खतरनाक माना जाता हैं, लेकिन ओमीक्रॉन में अबतक ऐसा असर देखने को नहीं मिला हैं। 
 
ओमीक्रॉन वायरस की यह खास बात हैं कि, इस वायरस का लक्षण 10 से 15 प्रतिशत लोगों में ही दिखाई देता हैं। बाकि 85% लोगों में इस वायरस का लक्षण ठीक से दिखाई नहीं देता हैं। 
 
ओमीक्रॉन वायरस की खास बात यह भी हैं कि, यह वायरस बहुत तेजी से फैलता हैं, लेकिन सभी लोगों को ओमीक्रॉन के कारण आइसोलेशन करने की जरूरत नहीं पड़ती हैं और ठीक भी जल्दी हो जाता हैं। ओमीक्रॉन वेरियंट, नया कोरोना वायरस के मुकाबले कम घातक सिद्ध हुआ हैं। 

ओमीक्रॉन वायरस से इफेक्ट होने के मुख्य कारण क्या हैं?

  • ओमीक्रॉन वायरस से इफेक्ट होने का मुख्य कारण माना जाता हैं कि, लोगों के संपर्क में आना।
  • बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग नहीं करना, ये भी ओमीक्रॉन वायरस से इफेक्ट होने का मुख्य कारण माना जाता हैं। 
  • ओमीक्रॉन वायरस से इफेक्ट होने का कारण यह भी माना जाता हैं कि, ज्यादा भीड़-भाड़ वाले जगहों में जाना। 
  • ज्यादा एक जगह-से-दूसरे सफर करना, यह भी ओमीक्रॉन से इफेक्ट होने का कारण माना जाता हैं। 
  • साफ-सफाई में ध्यान नहीं देना, बार-बार हाथ नहीं होना और सेनिटाइज़र का इस्तेमाल नहीं करना।

ओमीक्रॉन वायरस के क्या उपचार हैं? (Omicron Treatment Guidelines in Hindi)

ओमीक्रॉन डेल्टा वेरिएंट के कोरोना वायरस का ही अगला रूप हैं, जो उपचार हम नया कोरोना के लिए करते थे, ठीक उसी तरह इस ओमीक्रॉन वायरस का भी उपचार करेंगें। <