हल्दी वाले दूध के 8 फायदे और नुकसान | कब और कैसे पियें?

238
इस पोस्ट में हम आपको बता रहें हैं, हल्दी वाले दूध पिने के फायदे ऑफ़ नुकसान। (Turmeric Milk Benefits in Hindi) हमारे रसोई में उपलब्ध हल्दी बहुत ही फायदेमंद होती है। ये सर्दी, खांसी, जुकाम जैसी कई बीमारियों में लाभकारी होती हैं। इन सभी समस्याओं में आप हल्दी को दो तरह से ले सकते हैं। पहला आप रात में गाय के गर्म दूध के साथ या गर्म पानी के साथ, अगर गाय का दूध नहीं हैं तो उसके जगह में आप इसे बकरी के दूध के साथ भी ले सकते हैं और दूसरा आप इसे शहद के साथ भी ले सकते हैं। 100 ग्राम सूखी हल्दी में 350 कैलोरी होती है। एक आदमी एक दिन में 8 ग्राम ही हल्दी खा सकते है।
 
haldi wale doodh ke fayde or nuksan
 

हल्दी वाले दूध के फायदे

गठिया वात:-
 
अगर आप लगातार हल्दी वाले दूध का सेवन करते हैं, तो आपके जोड़ों या शरीर में किसी तरह का दर्द हो उसमें लाभकारी होता हैं। यह गठिया वात को ठीक करता है। लीवर को भी साफ करता है। यह रक्त को शुद्ध करता है।
 
रोग-प्रतिरोधक:-
 
हल्दी वाले दूध का सेवन करने से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। इसके सेवन से रक्त में कोई दोष नहीं होता है। यदि रक्त में कोई दोष नहीं होता तो, तो शरीर में कोई रोग नहीं आती है।
 
बच्चों में होने रोग:- 
 
बच्चों में टॉन्सिलाइटिस की समस्या होने पर डॉक्टर आपको तुरंत ऑपरेशन करने को बोलते हैं। यदि आप ऑपरेशन नहीं कराकर, अगर आप हल्दी वाला दूध को कुछ दिनों तक पीते हैं तो, आपका धीरे-धीरे टॉन्सिल की समस्या खत्म हो जाएगी। अगर आपको अधिक टॉन्सिल की समस्या हैं, तो आधा चम्मच पिसी हुई हल्दी को उनके गले में डाल दें और पाँच मिनट बाद उसे लार के साथ उसे मुँह के अन्दर ले। ऐसा सप्ताह में दो बार करने से बच्चों में होने टॉमसिल की समस्या हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।
 
 त्वचा के लिए अच्छा:-
 
अगर किसी त्वचा का रंग थोड़ा काला है, अगर आप चाहते हैं कि आपका रंग थोड़ा और गोरा हो, तो हल्दी से बेहतर कोई दवा नहीं है। आप हल्दी को आधी चम्मच गर्म दूध, पानी या शहद के साथ नियमित रूप से पिये या फिर हल्दी का लेप भी त्वचा पर लगा सकते हैं। जिनकी त्वचा में धूप पढ़ने से जलन होती है। अगर वे अपनी त्वचा पर हल्दी का लेप लगाते हैं, तो धूप का बुरा प्रवाह उनकी त्वचा पर नहीं पड़ेगा।
 
ब्रम्हचार्य का पालन:- 
 
यदि किसी व्यक्ति को ब्रम्हचार्य का पालन करना हो तो यह हल्दी आपके शरीर के वीर्य को सुरक्षित रखती है, 
 
कैंसर से बचाव:- 
 
यह हल्दी कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी में बहुत लाभकारी होता है, लेकिन वह हल्दी जो तुरंत खेत से निकाला हुआ हो। उस हल्दी का रस को शहद के साथ सेवन करने पर कई कैंसर में फायदेमंद होता हैं, लेकिन हल्दी भारत देश की होनी चाहिए।

हल्दी में पाए जाने वाले पोषक तत्व

  • कैलरीज
  • फाइबर
  • कार्बोहाइड्रेट
  • प्रोटीन
  • एंटीऑक्सिडेंट
  • करक्यूमिन
  • कैल्शियम 
  • वसा 
  • शुगर

इन लोगों को हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए

हर कोई को हल्दी वाली दूध का सेवन नहीं करना चाहिए। सर्दियों में हल्दी का उत्पादन होता हैं। हल्दी इसमें गर्मी होती है। जिनका शरीर में पहले से ही गर्मी की मात्रा अधिक हैं, वे गर्मियों में इसका सेवन नहीं कर सकते, जो लोग पित्त प्रकृति के हैं वे सर्दियों में इसका सेवन कम मात्रा में ही कर सकते हैं।
 
अगर आपको किसी भी प्रकार का खून संबंधित रोग है। अगर नाक या शरीर (नकसीर) के किसी अंग से खून निकलता है, तो आपको हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर बवासीर, मस्से, या फिशर जैसी कोई समस्या हो, तो आपको हल्दी वाली दूध का सेवन नहीं करना चाहिए।
 
haldi wale doodh ke side effect
 
जिन महिलाओं को पीरियड्स के दौरान अधिक खून आता हो, वे इस स्थिति में भी हल्दी का सेवन नहीं चाहिए और जो महिलाएं गर्भवती हैं उन्हें भी हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए, ऐसा करने से गर्भपात भी हो सकता है।
 
जिन लोगों को पीलिया या पित्त की थैली में पथरी है, उन्हें भी सब्जी के अलावे हल्दी अलग से नहीं लेनी चाहिए। ऐसा करने से उनकी समस्या को और भी बढ़ा सकती हैं।
 
जिन लोगों को पेट से जुड़ी किसी तरह की परेशानी होती है, जैसे पेट में बहुत ज्यादा गर्मी, बहुत ज्यादा गैस और एसिडिटीअल्सर की समस्या हो तो उसे डॉक्टर की सलाह के बिना हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए। 
 
जिन लोगों को शुगर जैसी समस्या है, उन्हें भी हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए या फिर डॉक्टर की सलाह से ही इसका सेवन करना चाहिए और साथ ही रोजाना शुगर लेवल की जाँच भी करनी चाहिए। हल्दी आपके शुगर लेवल को तेजी से नीचे लाती है। अगर आप रोजाना हल्दी को पानी या दूध के साथ सेवन करते हैं तो, आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।
 
जिन लोगों को किडनी स्टोन है उन्हें भी सब्जियों के अलावा हल्दी को अलग से सेवन करने से बचना चाहिए।
 
जिस प्रकार महिला को माहवारी के दौरान अधिक खून आता है, उसी प्रकार यदि कोई व्यक्ति हल्दी का अधिक मात्रा में सेवन करता है, तो यह शरीर में नपुंसकता ला सकती है। अगर कोई पुरुष हल्दी का अधिक सेवन करता है, तो हल्दी उसके सेक्स हार्मोन को कम करता है। यह वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या को भी कम करता है, जिससे उन्हें निःसंतान जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।
 
जिन लोगों के शरीर में खून की बहुत अधिक कमी है, या फिर आयरन की कमी है, उन्हें भी डॉक्टर की सलाह से हल्दी का सेवन करना चाहिए। हल्दी शरीर में आयरन के स्तर को कम करती है, जिससे यह हमारे शरीर में खून नहीं बनने देती।
 
 
(नोट:- अगर आपको इस पोस्ट में कुछ जानकारियाँ नहीं मिली हो तो, कमेंट जरूर करें और इस पोस्ट को व्हाट्सप्प में अधिक लोगों के साथ शेयर करें)
 
 
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here