सेब का सिरका क्या हैं | सेब का सिरका के फायदे 13 और नुकसान

356
आप हम इस पोस्ट में बता रहें हैं, सेब का सिरका पीने के फायदे और नुकसान। (Apple Cider Vinegar Benefits and Side Effects in Hindi) एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar) जिसे हम आसान और घरेलू भाषा में सेब का सिरका कहते हैं। सेब का सिरका सेब के गुदा से ही बनता हैं। सेब का सिरका हो या किसी भी प्रकार का सिरका हो उसमें 5 से 20% एसिटिक एसिड (Acetic Acid) होता हैं और 80 से 85% पानी और जिस चीज का सिरका बनाया जाता हैं, वह पदार्थ मिलाया जाता हैं। सेब के सिरके की तासीर सामान होती हैं, ना ठंडी होती और ना गर्म होती हैं।
seb-ka-sirka-peene-ke-fayde
यह फेरमेंटशन प्रोसेस से बनता हैं। जिसमें कार्बोहायड्रेट में यीस्ट (Yeast) और बैक्टीरिया उपयोग किया जाता हैं। इसमें असिटोबैक्टर नाम का बैक्टीरिया मिलाया जाता हैं, जो अल्कोहल को बदल देता हैं एसिटिक एसिड में जो सिरका (Vinegar) कहलाता हैं। 
 
एसिटिक एसिड (Acetic Acid) एक प्रकार का खतरनाक केमिकल हैं, इसका इस्तेमाल पेंट, इंक और साफ-सफाई करने वाले चीजों में इसका इस्तेमाल किया जाता हैं। अगर एसिटिक एसिड कहीं त्वचा में लग जाएँ तो वहाँ त्वचा को जला देती हैं। इसलिए इसका इस्तेमाल कम मात्रा में किया जाता हैं। 
 
कई खाने के उत्पाद जैसे:- शराब, ग्रेन्स फ़ूड और कई प्रकार फल जिससे शराब बनती हैं। उसमें एसिटिक एसिड का प्रयोग किया जाता हैं। रखा हुआ कचरा से जो बदबू आता हैं, वह एसिटिक एसिड के कारण आता हैं और ये एसिटिक एसिड एक बैक्टीरिया बनाता हैं, जिसे हम एसिटिक एसिड बैक्टीरिया कहते हैं। एसिटिक एसिड का इस्तेमाल बैक्टीरिया इंस्फेक्शन या बैक्टीरिया मारने में किया जाता हैं। 
 
ये एसिटिक एसिड हर जगह होते हैं और ये मक्खियों के साथ-साथ अनेक प्रकार के जीव-जन्तुओं से फलते हैं। यह हमारे शरीर के अंदर भी होता हैं। यह महिलाओं में योनि के अंदर भी होता हैं, इसलिए योनि के अंदर जो फ्लूइड जो होता हैं, वह खट्टा होता हैं। यह एसिटिक एसिड के कारण होता हैं। ये एसिटिक एसिड बाहरी संक्रमण (Infection) से योनि को बचाता हैं। भोजन के द्वारा जमा हुए वसा और कार्बोहायड्रेट को एसिटिक एसिड बाहर निकालता हैं। 

सेब का सिरका के फायदे (Apple Cider Vinegar Benefits in Hindi)

सेब का सिरका का किसी बीमारी का पूर्ण इलाज नहीं हैं। सेब का सिरका का कई फायदे और नुकसान भी हैं और उपयोग करने के कई तरीके हैं। कई लोग इसके फायदे के अनुसार इसे जरूरत से ज्यादा सेवन करने से फायदे की जगह नुकसान कर लेते हैं। 
  • सेब का सिरका खाने के साथ लेने पर भूख में थोड़ी कमी आती हैं। जिसके कारण वजन कम करने में मदद करती हैं। 
  • सेब का सिरका में Acetic Acid होने के कारण, इसका इस्तेमाल कान के बाहरी संक्रमण को ख़त्म करने में किया जाता हैं। अगर कान के अंदर संक्रमण हैं तो इसका इस्तेमाल बिना डॉक्टर की सलाह से नहीं करें। 
  • सेब का सिरका के सेवन से अचानक तेजी से शुगर लेवल नहीं बढ़ता हैं। 
  • सेब का सिरका में पॉलीफेनोल्स एंटीऑक्सीडेंट (Polyphenols Antioxidants) पाये जाते हैं जो, ऑक्सीडेटिव तनाव, एजिंग और कैंसर से बचाता हैं।
  • 3 महीने लगातार सुबह खाली पेट 1 गिलास गुनगुना पानी में 2 चम्मच सेब का सिरका डालकर पीने से 1-2 किलों वजन हो सकता हैं। 
  • आधी गिलास पानी में 1 छोटी चम्मच सेब का सिरका डालकर खाने के साथ पीने से शुगर लेवल सामान रहेगा। 
  • बालों में रूसी जिसे हम डैंड्रफ कहते हैं, उसे हटाने में सेब का सिरका मदद करता हैं। एक कप पानी में 2 चम्मच सेब का सिरका मिलाकर उसे एक स्प्रे बोतल में रख लें। इसे बालों के गहराई में अच्छी तरह स्प्रे कर लें, उसके बाद इसे 15 मिनट तक छोड़ दें, उसके बाद बालों को साफ पानी से अच्छी तरह धो लें। इसे आपके बालों में डैंड्रफ की समस्या को होने रोकता हैं। ध्यान दें अगर आप अपने बालों में किसी प्रकार का डाई या कलर करतें हैं तो, वह लोग भूल कर भी सेब का सिरका बालों में नहीं लगायें। इसके आपके बाल कमजोर हैं। 
  • जिन लोगों के पैरों से बदबू आते हैं, वह लोग आधी बाल्टी पानी में एक कप सेब का सिरका डाल दें, उसके बाद उस पानी में दोनों पैर को 15 मिनट तक डुबाकर रखना हैं। सेब का सिरका पैरों में होने वाले बदबू वाले बैक्टीरिया को होने रोकता हैं। 
  • सेब का सिरका पानी में डालकर कुल्ला करने से मुँह का बदबू भी कम होता हैं। 
  • सेब का सिरका पानी में मिलाकर रुई सहारे त्वचा में लगाने से त्वचा में चमक आती हैं और चेहरे में छोटे दानों से छुटकारा भी मिलता हैं। 
  • आप अगर गुनगुने पानी में एक चम्मच सेब का सिरका डालकर गरारे करते हैं तो आप गले के खरास में छुटकारा मिलता हैं। अगर आपको साइनस की समस्या हैं तो, आप एक चम्मच शहद और एक चम्मच सेब का सिरका, गुनगुने पानी के साथ सेवन करने से साइनस की समस्या में बहुत आराम मिलता हैं। 
  • सेब का सिरका ख़राब कोलेस्ट्रॉल और ब्लड-प्रेशर को कम करने में काफी मदद करता हैं। 
  • सेब का सिरका पाचन शक्ति बढ़ाने में ठीक करता हैं। 
benefits of apple cider vinegar for weight loss in hindi

सेब का सिरका के नुकसान (Apple Cider Vinegar Side Effects in Hindi)

  • सेब का सिरका को हमेशा खाने के साथ, सलाद में डालकर और चट्नी के रूप में खायें। सिर्फ सेब का सिरका अकेले नहीं खाना पीना चाहिए, इससे आपको नुकसान होगा। 
  • सेब का सिरका को ज्यादा शुगर लेवल घटाने के लिए नहीं करना चाहिए। 
  • सेब का सिरका के ज्यादा सेवन से शरीर में पौटेशियम, कैल्शियम और ग्लूकोज की कमी हो जाती हैं, जिसके कारण हाथ-पैर में अकड़न होने लगती हैं और शुगर की कमी के कारण चक्कर आने लगती हैं और दिल को भी नुकसान करती हैं। 
  • अधिक मात्रा में सेब का सिरका सेवन करने से शरीर की हड्डियाँ भी कमजोर होने लगती हैं। 
  • अधिक मात्रा में सेब का सिरका लेने से शरीर से पानी कम निकलती हैं। शरीर पानी बचाती हैं। 
  • सेब का सिरका शुगर में उतना मददगार नहीं हैं, जितना कहा जाता हैं। अच्छी खाना और कसरत के मुकाबले ये कम मददगार हैं। लोग शुगर की दवाई छोड़कर सेब का सिरका लेने लगते हैं। 
  • अगर आप सिर्फ सेब का सिरका या पानी में अधिक मात्रा में मिलाकर शरीर या त्वचा में लगाने से त्वचा को जला सकता हैं। 
  • सेब का सिरका दाँतों को सफेद करने के लिए इस्तेमाल करने से इसमें पायें जाने वाले एसिटिक एसिड आपके दाँतों के ऊपरी को गला कर दाँतों को खोखला कर सकता हैं। उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें। 
  • सेब का सिरका में एक तरह का तेजाब रहता हैं, इसको बिना पानी मिलाएँ या थोड़ी पानी में मिलाकर पीने से मुँह, गला और पेट जल सकता हैं। 
  • अगर आप दिल, शुगर और किडनी किसी भी प्रकार का बीमारी का दवाई खा रहें हैं तो, सेब का सिरका बिना डॉक्टर सलाह से नहीं लेनी चाहिए। 
  • गर्भवती महिला बिना डॉक्टर के सलाह के सेब का सिरका का सेवन नहीं करना चाहिए। 
  • अगर आप किसी प्रकार का दवाई का सेवन कर रहें हैं तो, सेब का सिरका बिना डॉक्टर के सलाह से नहीं लेनी चाहिए।

सेब का सिरका कब, कैसे और कितना सेवन करना चाहिए। 

कब:- सेब का सिरका लेने का कोई समय नहीं होता हैं, सेब का सिरका आप सुबह खाली पेट, दोपहर और रात को भी लें सकते हैं। लेकिन सेब का सिरका जब भी लें सिर्फ सेब का सिरका नहीं लें। हमेशा सेब का सेब का सिरका खाने, सलाद और चट्नी के रूप में सेवन करें। 
 
कितना:- सेब का सिरका एक दिन में दो टेबल चम्मच से ज्यादा नहीं लेनी चाहिए। 
 
कैसे:- सेब का सिरका एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच सेब के साथ, नास्ते, खाना खाने के पहले और खाने के साथ, सलाद के साथ सेवन कर सकते हैं।
 
seb ka sirka pine ke fayde

ऑनलाइन सेब का सिरका खरीदते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें 

  • सेब का सिरका में लेवल जो रहता हैं। 5% एसिटिक एसिड लेवल का सिरका सबसे अच्छा माना जाता हैं। 
  • सेब का सिरका कई प्रकार का होता हैं। पहला पेडियेट्रिक सिरका होता हैं। इसमें बैक्टीरिया और अन्य जीवाणु होने की संभवना हो सकती हैं। दूसरा कोल्ड सिरका, सिरका के उस जूस से बनाया जाता हैं। जिसे कोल्ड फ्रेश प्रक्रिया द्वारा बनाया जाता हैं। तीसरा फ़िल्टर किया गया सिरका होता हैं जो, गाढ़ा और थोड़ा धुंधला होता हैं जो, सबसे अच्छा माना जाता हैं। 
 

FAQ: सेब के सिरके से जुड़े सवाल और जबाब 

Q. सेब के सिरके का मूल्य क्या हैं?
Ans:- सेब के सिरके का अलग-अलग ब्रैंड का अलग-अलग दाम होता हैं। 500 मिलीग्राम का 200 से 500 रुपया में मिल जाता हैं। 
 
 
(नोट:- अगर आपको इस पोस्ट में कुछ जानकारियाँ नहीं मिली हो तो, कमेंट जरूर करें और इस पोस्ट को अधिक लोगों के साथ शेयर करें)
 
अन्य पढ़े:-
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here